Java in hindi : Applets

Java Applets 

  • Introduction to java applets in Hindi 
  • Life cycle of java applets in Hindi 
  • Example of java applets in Hindi
  • Parameter passing in java applets in Hindi 

Introduction to Java Applets 

Applet एक java program होता है जो browser में run होता है। ये एक ऐसा प्रोग्राम होता है जो HTML के साथ काम कर सकता है। इसे HTML code में ही include कर लिया जाता है। Java program की file और HTML program की files अलग अलग होती है। HTML में java program को load करने के लिए आप <applet> tag यूज़ करते है। जब कोई भी यूज़र इस HTML पेज को browser पर देखता है तो HTML के साथ java program भी load हो जाता है। लेकिन इसके लिए आपको applet (java program) को और HTML file को एक ही server पर save करना पड़ता है। 

Applet ऐसा java program होता है जो Applet class को extend करता है। Applet program को .class extension से save किया जाता है। जब कोई यूज़र browser में applet को देखता है तो applet का code उस user की machine में download हो जाता है। पहले applet का code user की machine में download होता है फिर applet browser में रन होता है। इसलिए आप कह सकते है की applets client side applications होती है।Applets को run होने के लिए JVM की जरुरत होती है। JVM browser plugin के रूप में भी हो सकती है या आपके system में भी हो सकती है। 

Applet प्रोग्राम को आप browser में ना देख कर एक applet viewer में भी देख सकते है। जब आप किसी applet program को HTML में include ना करके directly रन करवा देते है, तो java automatically applet को applet viewer में शो कर देती है।    

एक applet java program में main() मेथड नहीं होता है। Applet class कई life cycle methods provide करती है जिनसे applet को handle किया जाता है। हर method को एक specific task perform करने के लिए बनाया गया है।  Applet की life cycle में ये सभी methods एक ना एक बार जरूर execute किये जाते है। आइये इन सभी methods के बारे में जानने का प्रयास करते है।


Life cycle of Java Applets 

Applet क्लास 5 important methods provide करती है, जिन्हे आप override करते है। इन methods को life cycle methods भी कहते है। एक applet program अपनी life cycle में इन सभी methods से होकर गुजरता है। ये सभी methods आपको applet program पर पूरा पूरा control provide करते है। ये सभी methods निचे दिए जा रहे है। 

  • init() - इस method में आप variables को initialize कर सकते है या फिर कोई object क्रिएट कर सकते है। किसी भी तरह का initialization आप इस method में कर सकते है। जैसे की applet का background color set कर सकते है। 
  • start() - ये मेथड init() method के बाद automatically call होता है। ये method browser में applet को call करता है। 
  • stop() - ये मेथड applet को stop करने के लिए यूज़ किया जाता है। आप जब applet वाले HTML page को छोड़ कर किसी दूसरी window पर जाते है तो ये method call होता है और applet pause हो जाता है। जब आप वापस उसी window पर आते है, तो applet फिर से शुरू हो जाता है। 
  • destroy() - जब आप browser को close करते है तो ये मेथड call होता है और applet destroy हो जाता है। 
  • paint() - इस method को आप applet में कुछ draw करने के लिए यूज़ किया जाता है। ये method start() मेथड के बाद call होता है।                          

आइये अब applet का एक complete उदाहरण देखते है। 


Example 


// Java code

class picture extends Applet
{
   public void init()
   {
     void setBackground(color.red);
   }

   public void paint(Graphics g)
   {
     g.drawString("Applet are for GUI",30,30);
   }

}


//HTML code

<html>

<head>
<title>applet example</applet>
</head>

<applet code="picture.class" width="300" height="300">

</applet>


</html>




Parameter Passing in Java Applets 

आप java file को HTML file के through parameters भी पास कर सकते है। कई बार ऐसा होता है की आप input user से किसी form के द्वारा लेते है। और further processing के लिए आपको इस input को java file को pass करने के आवश्यकता होती है। इसलिए applet API parameter passing का feature provide करती है। Java file को parameters pass करने के लिए HTML एक <param> नाम का tag provide करती है। इस tag को आप <applet> starting और </applet> closing tags के बीच में लिखते है। इस टैग के 2 attributes होते है। पहला attribute name होता है। इस attribute में आप उस value का नाम लिखते है जो आप parameters के द्वारा pass करना चाहते है। दूसरा attribute value होता है। इस आप name attribute में pass किये गए naam की value देते है। ये key value pair की तरह work करते है।

Java file में इन parameters को include करने के लिए सबसे पहले आप एक variable क्रिएट करते है। इसके बाद आप इस variable की value provide करने के लिए एक getParameters() method कॉल करते है। इस method में आप उस parameter का नाम pass करते है, जिसकी value आप variable में store करवाना चाहते है। ये method उस parameter की value variable में store कर देता है। इसका उदाहरण निचे दिया जा रहा है।

Applets java को बहुत ही advanced feature है, इसकी मदद से आप कई प्रकार के graphics design कर सकते है।


//html file
<html>

<head>
<title>applet example</applet>
</head>

<applet code="picture.class" width="300" height="300">
<param name=userName value=Vipin Sharma>

</applet>

</html>


//java file

class userName extends Applet
{
   String username;

   public void start()
   {
     username = getParameter("userName");
   }

   public void paint(Graphics g)
   {
     g.drawString(username,30,30);
   }
}


      DMCA.com Protection Status

6  Replies so far - Add your comment

  1. Sir in current scenario which technology is in market spring,hibernate,struts or applet

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. All of them. spring & hibernate are frameworks. But applets are in core(base) of java. You have options when it come to frameworks. But for applets you don't have other choices. I will suggest you to learn it better. Because other topics like awt and swing are kind of related to applet. And as web keeps growing it's a must.

      By the way it was a nice & informative question for others too.

      हटाएं