Android in hindi : Android Views

Android Views

  • Introduction to android views in Hindi.
  • Common android views in Hindi. 
  • Common methods used with android views in Hindi.

Introduction to Android Views

Android views एक्टिविटी के अंदर होते है। Android views वो elements होते है जो हमे स्क्रीन पर शो होते है, जैसे की button, text-box आदि। सभी views activity के अंदर होते है।

Android view classes, views को represent करती है। हर android view एक view class के द्वारा represent किया जाता है। जैसे की button को represent करने के लिए Button class provide की गयी है। इन classes की मदद से हम events के द्वारा user से interact करते है।

Android views tree की form में represent होते है। किसी activity में views hierarchical tree की form में represent किये जाते है। अलग अलग views की अलग अलग size होती है। ज्यादातर use होने वाले views को android platform में include किया गया है।

आप खुद के android views भी create कर सकते है। Android platform में included views के अलावा आप खुद के views भी create कर सकते है। आप views को directly या तो code में डाल सकते है या XML file भी आप use कर सकते है।

Common Android Views

जब आप किसी single एलिमेंट को देखते है तो वह view कहलाता है। जब बहुत से views को एक साथ किसी layout की मदद से show किया जाता है तो वह view-group कहलाता है।

View's

View class को Analog-Clock, Progress-Bar, Image-View, Surface-View, View-Group, Text-View और View-Stub classes extend करती है।        


Text-View - Text-View क्लास view क्लास को extend करती है। Text-View क्लास को Edit-Text, Digital-Clock, Chronometer, Checked-Text-View और Button classes extend करती है।

Button class को Compound-Button class extend करती है। Compound-Button class को Radio-Button और Check-Box Classes extend करती है।

Image-View - Image-View class को Image-Button class extend करती है। ये class image buttons क्रिएट करने के लिए यूज़ की जाती है।

Surface-View - Video-View क्लास Surface-View class को extend करती है। ये क्लास screen पर video शो करने के लिए यूज़ की जाती है।
Analog-Clock - ये class screen पर analog clock क्रिएट करने के लिए use की जाती है।

Progress-Bar - ये क्लास किसी process के लिए progress bar क्रिएट करने के लिए use की जाती है।

View-Stub - ये क्लास दूसरे views के लिए layout क्रिएट करने के लिए use की जाती है।



View-Group's  

View-Group क्लास View क्लास को एक्सटेंड करती है। View-Group क्लास को Map-View, Adapter-View, Relative-Layout, Linear-Layout, Frame-Layout और Absolute-Layout क्लासेज extend करती है।


Map-View - इस क्लास के द्वारा हम screen पर map को show कर सकते है।

Adapter-View - Spinner, Grid-View, Gallery और List-View classes Adapter-View क्लास को extend करती है।

Relative-Layout - इस क्लास को Dial-er-Filter और Two-Line-List-Item क्लासेज एक्सटेंड करती है। ये classes views के लिए relative layout provide करती है।

Linear-Layout - Table-Layout, Table-Row, Radio-Group, Tab-Widget, Zoom-Controls क्लासेज Linear-Layout क्लास को extend करती है। ये क्लासेज views के लिए Linear layout प्रोवाइड करती है।

Frame-Layout - Scroll-View, Time-Picker, Date-Picker, Ticker, Scale-Layout, View-Animator क्लासेज Frame-Layout क्लास को extend करती है। ये क्लासेज views के लिए frame layout प्रोवाइड करती है।

Absolute-Layout - इस क्लास को Web-View क्लास extend करती है। ये क्लास views के लिए Absolute-Layout provide करती है।                  

Common Methods Used with Android Views

set-Background-Color(int Color) - ये मेथड background color set करने के लिए use किया जाता है।

set-Background-Draw-able(Draw-able d ) - ये मेथड एक draw-able background सेट करने के लिए यूज़ किया जाता है। जैसे की कोई image आप background में सेट कर सकते है।

set-Clickable(Boolean c) - आप चाहे तो जिस element पर आप ये मेथड कॉल करेंगे उसे clickable बना सकते है।

set-Focus-able(Boolean f ) - आप चाहे तो एलिमेंट को focus-able बना सकते है।

set-Layout-Pa-rams(View-Group.Layout-Pa-rams l ) - इस मेथड के द्वारा आप लेआउट की position और size सेट कर सकते है।

set-Minimum-Height(int min-Height) - इस मेथड से आप एलिमेंट की minimum height सेट कर सकते है।

set-Minimum-Width(int min-Width) - इस मेथड से आप element के minimum width सेट कर सकते है।

set-On-Click-Listener(on-Click-Listener l) - इस मेथड से आप एक listener सेट कर सकते है जो की events generate होने पर respond कर सकता है।


      DMCA.com Protection Status

 Leave a comment