Best Hindi Tutorials

PHP in Hindi : Classes

PHP classes and objects 

  • Introduction to PHP classes in Hindi
  • Creating objects in Hindi
  • PHP visibility in Hindi 
  • PHP properties in Hindi
  • PHP classes constructor and destructors in Hindi 
  • PHP abstract classes in Hindi
  • PHP inheritance in Hindi
  • PHP interfaces in Hindi

Introduction to PHP classes 

Classes किसी भी object oriented programming language का बहुत important concept होती है। ये different data types और functions का collection होती है। Classes के features के बारे में आगे दिया जा रहा है।

Features of using classes 

  • Data secure हो जाता है। 
  • एक तरह का data दूसरे तरह के data से separate हो जाता है।     
  • Programmer का पूरा focus डेटा पर होता है। 
  • Program की complexity कम हो जाती है।   

PHP में class किसी दूसरी language की तरह ही क्रिएट की जाती है लेकिन PHP classes में कोई main method नहीं होता है। Class क्रिएट करने के लिए आप class keyword यूज़ करते है।



Creating objects

PHP में objects क्रिएट करना बहुत ही आसान है। इसके लिए आप new keyword यूज़ करते है। किसी simple variable की तरह ही object क्रिएट किया जाता है।



Visibility 

PHP में visibility का मतलब होता है की कौन कौन आपके function, property या class को access कर सकता है। ये आपकी classes, methods और properties के लिए एक protection लेवल होता है। ताकि हर कोई आपके डेटा को access न कर सके। Visibility 3 प्रकार की होती है -

Visibility
Purpose
Private
No other classes, methods or properties can access your class, method or property.
Public
All other classes, methods or properties can access your class, method or property.  
Protected
Only inherited classes can access your class, function or property.


PHP Properties 

Class के अंदर जो आप variables declare करते है वो properties कहलाती है। यदि property non-static है तो आप (->) operator के द्वारा access करते है। और यदि property static है तो (::) operator के द्वारा access करते है। Non static property का उदाहरण निचे दिया जा रहा है।


Static property का उदाहरण आगे दिया जा रहा है।


Constructors and destructors 

ऐसा हो सकता है की object को यूज़ करने से पहले आपको कुछ initialization करना हो या कोई दूसरा task परफॉर्म करने की आवश्यकता हो तो ऐसी situation में आप constructor क्रिएट कर सकते है। Constructor एक method की तरह ही होता है। जब आप किसी क्लास का object क्रिएट करते है तो उस class का constructor call होता है। और ऑब्जेक्ट को यूज़ करने से पहले जो काम जरुरी है वो इस method में perform किये जाते है।

Constructor functions की visibility public होती है। किसी function की तरह आप constructor में भी arguments पास कर सकते है।

किसी भी class का constructor क्रिएट करने के लिए आप _construct नाम का एक method define करते है। आइये इसे एक उदाहरण से देखते है।


Object destroy करने के लिए destructor का यूज़ किया जाता है। हालांकि PHP में ये काम garbage collector द्वारा automatically किया जाता है। लेकिन फिर भी यदि आप चाहे तो खुद भी किसी ऑब्जेक्ट को destroy कर सकते है।

Object को destroy करने के लिए आप _destruct नाम से एक function create करते है। Object के destroy होने पर यदि आप कोई task perform करना चाहते है तो वो आप इसमें कर सकते है। आइये इसे एक उदाहरण से समझते है।



Abstract classes 

Abstract classes का आप object क्रिएट नहीं कर सकते है। Abstract classes इसीलिए बनायीं जाती है ताकि दूसरी classes उसे inherit कर सके। Abstract classes में आप normal function तो create कर ही सकते है साथ ही abstract function भी क्रिएट कर सकते है। Class और functions को abstract declare करने के लिए आप abstract keyword यूज़ करते है।

Abstract function वो function होते है जो सिर्फ declared होते है ऐसे functions की कोई definition नहीं होती है। जिस class में एक भी abstract function हो वो class भी abstract declared होनी जरुरी है। Abstract function की definition abstract class को inherit करने वाली class देती है।

जब भी कोई class किसी abstract class को inherit करती है तो वो सभी abstract functions की definition provide करती है।



Inheritance 

Inheritance एक object oriented principle है। बाकि programming languages की तरह ही PHP भी inheritance यूज़ करती है। इस features के द्वारा एक क्लास किसी दूसरी क्लास के public और protected functions को extend कर सकती है और यूज़ कर सकती है। ऐसा करने से same functions को बार बार लिखने के काम से आप बच जाते है साथ ही memory space भी बचता है। 

दूसरी class के functions को extend करके या तो आप उन्हें वैसा का वैसा यूज़ कर सकते है या फिर अपनी खुद की definition भी provide कर सकते है। किसी class को inherit करना बिलकुल simple है। इसके लिए आप extends keyword यूज़ करते है। इसका उदाहरण निचे दिया जा रहा है।  


Interfaces

Interfaces में आप ऐसे methods declare करते जिनकी body नहीं होती है। Interfaces किसी class को बताते है की उसे किस तरह के methods implement करना आवश्यक है। इन functions की body वो क्लास provide करती है जो interface को implement करती है। एक interface किसी दूसरे interface को भी extend कर सकता है। एक class एक से ज्यादा interfaces को implement कर सकती है। 

Interface create करना simple है इसके लिए आप interface keyword यूज़ करते है। किसी interface को implement करने के लिए आप implements कीवर्ड यूज़ करते है।  इसका उदाहरण निचे दिया जा रहा है।


      DMCA.com Protection Status

14  Replies so far - Add your comment

  1. Good learning. But I want to whole oops concepts in Hindi with example.

    Thanks

    उत्तर देंहटाएं