Best Hindi Tutorials

XML in Hindi : Introduction

XML Introduction

  • Introduction to XML in Hindi 
  • Features of XML in Hindi 
  • Limits of XML in Hindi 
  • Uses of XML In Hindi 
  • Difference between HTML and XML in Hindi 
  • A simple XML program 


Introduction to XML 

XML एक markup language है। इसका पूरा नाम Extensible Markup Language है। XML को W3C (World Wide Web Consortium) ने develop किया था। XML, HTML की limitations को पूरा करती है। XML data को store और organize करने के लिए यूज़ की जाती है। 

HTML एक बहुत ही popular और बड़ी language है। HTML में 100 से भी ज्यादा tags है। इन सभी tags को याद रखना और यूज़ करना बहुत ही मुश्किल है। साथ ही HTML का presentation browsers के according change हो जाता है। HTML में एक problem ये और है की कई बार आपके document में original content से ज्यादा तो tags हो जाते है। 

इन सभी problems को XML के द्वारा solve करने की कोशिश की गई है। ऐसा बिलकुल भी नहीं है की XML, HTML को replace करती है। और near future में भी ऐसा होना possible नहीं है। 

XML और HTML को combine करके यूज़ किया जा सकता है। XML और HTML के combined version को X-HTML कहते है। 

जब आप किसी दूसरी application के द्वारा data को store करते है तो उसे access करने के लिए आपको वही application यूज़ करनी पड़ती है। लेकिन XML के साथ ऐसा नहीं है XML से आप data कभी भी आसानी से access कर सकते है।  

Features of XML

XML एक बहुत ही powerful language है और ये अपने कुछ features की वजह से दूसरी languages से different है। आइये इन features के बारे में जानते है। 
  1. XML, complex structure के data को handle करने के लिए बहुत ही powerful और excellent option है। 
  2. XML के द्वारा data का description text format में दिया जा सकता है। 
  3. XML का format human और computer readable दोनों है। 
  4. XML data को tree structure में handle करती है जिससे की processing fast हो जाती है। 
  5. Data को लम्बे समय तक store करने और दुबारा यूज़ करने के लिए एक अच्छी technology है। 
  6. XML में data को markup language के द्वारा describe किया जाता है।                 



Limitations of XML 

XML की कुछ limitations है जो इसको दूसरी languages से पीछे रखती है। आइये इनके बारे में जानने का प्रयास करते है। 
  • XML का syntax binary representation से बड़ा होता है। Same data XML में थोड़ा बड़ा होता है और binary representation में छोटा होता है।     
  • XML का syntax बहुत ज्यादा verbose हैं। यानि बहुत ही explanatory है। 
  • XML किसी भी तरह के data types को support नहीं करती है। जैसे की integer, strings आदि। 
  • Document का hierarchical representation limited होता है। 
  • XML namespaces यूज़ करने में problematic है।       
  • XML का कोई application processing system नहीं है। Processing के लिए XML को HTML पर dependent रहना पड़ता है। 
  • XML document setup करने में बहुत ही difficult और expensive है। 

Uses of XML 

XML को बहुत से tasks के लिए यूज़ किया जाता है। इनमे से कुछ के बारे में निचे दिया जा रहा है। 
  • बड़ी websites को maintain करने के लिए XML को यूज़ किया जा सकता है। 
  • Organizations के बीच में information exchange करने के लिए XML को यूज़ किया जा सकता है।
  • Database को load और unload करने के लिए भी XML को यूज़ किया जा सकता है। 
  • XML को style sheets के साथ merge किया जा सकता है। 
  • किसी भी तरह का data XML document के रूप में express किया जा सकता है।              

Difference between HTML and XML 

  • XML data को carry करने के लिए design की गई है जबकि HTML data को display करने के लिए यूज़ की जाती है। 
  • HTML के सभी tags predefined होते है जबकि XML में tags predefined नहीं होते है। 

A simple XML program 

  
 <? xml version="1.0" encoding="STF" ?>

<person>
<name> Ram </name>
<age> 24 </age>
</person>           



     

 Leave a comment