Best Hindi Tutorials

Textual description of firstImageUrl

C in Hindi : Your first program

First C program 

  • C program development life cycle in Hindi 
  • Structure of a C program
  • Your First C program explained in Hindi 

C program development life cycle  

C में कोई भी program create करने के 4 steps हो सकते है। ये steps एक particular order में होते है और इनका अपना कुछ महत्व होता है। आइये पहला C program create करने से पहले इस process को समझने का प्रयास करते है।

C-program-development-lifecycle

  1. सबसे पहले आप एक program को लिखते है। इसे program development life cycle का editing part भी कहते है। ये program human readable format में होता है। 
  2. इसके बाद आप program को compile करते हैं। ये development life cycle का second step होता है।इस part में सभी bugs को remove करके program को binary format में convert किया जाता है ताकि computer इसे process कर सके। 
  3. इसके बाद linking process आती है। इस process में program को necessary libraries के साथ link किया जाता है। जैसे की आपको पता है की C का basic program भी बिना library को include किये नहीं execute हो सकता है। Libraries C program को execute होने के लिए environment provide करती है।
  4. इसके बाद executable file produce कर दी जाती है। जिसे आप जितनी बार चाहे execute कर सकते है। Editing process का output .c source file होती है। Compiling process का input source file होती है और output .obj files होती है। Linking process का input .obj file होती है और output .exe file होती है। 

Structure of A C program 

C-program-structure



Your first C program 

#include <stdio.h>

int main() 
{
    printf("Hello Readers!");
   
    return 0;
}


सबसे पहली line में <stdio.h> header file को program में include किया गया है। ये एक standard input/output header file होती है जो program में input और output को handle करती है। इन्हें pre processor directives भी कहते है।

इसके बाद main() method को start किया गया है। Main method से ही program का execution start होता है। इसी method में सभी instructions लिखे जाते है। Main method का start और end curly brackets के द्वारा show किया जाता है। इन curly brackets के भीतर के सभी instructions execute किये जाते है।

Main function को int type के साथ define किया गया है। ये एक standard है। Int type के बारे में आप आगे की tutorials में जानेंगें। Main function को एक integer value return करनी होती है। यदि आप program में main() function से कोई value return नहीं करते है तो program के आखिर में return 0 statement define करते है।

Commenting 

Comments आपके program में वो text होता है जिसे compiler ignore कर देता है। ये text बाकी statements की तरह execute नहीं होता है। Comments program में किसी statement को या फिर program को define करने के लिए यूज़ किये जाते है। 

C language में commenting की general form नीचे दी जा रही है। 

/* your comment text here */ 
 
आइये अब comments के यूज़ को एक उदाहरण से समझने का प्रयास करते है। 

/* This is a c program which shows Hello World message on execution */ 

#include <iostream.h>

int main() /* Main function starts from here*/
{
   printf("Hello World!") /* This statement will print Hello World message */
  
   return 0;
 
जैसा की आप ऊपर दिए गए program में देख सकते है, comments के माध्यम से program और दूसरे statements के बारे में explanation दी गयी है। 

     

 Leave a comment