CCNA in Hindi : Networks

Networking 

  • Introduction to networking in Hindi
  • Types of networks in Hindi
  • Architecture of network in Hindi

Introduction to Networking 

Network शब्द को अलग अलग संदर्भ में प्रयोग किया जाता है, जैसे की telephone network, computer network और peoples network आदि। एक computer network कुछ devices से मिलकर बना होता है जो आपस में wire से या wirelessly connected होते है।

networking-in-Hindi

जैसा की आप ऊपर दिए गए diagram में देख सकते है अलग अलग devices आपस में connected है। यह एक simple computer network है। 

What is Networking? (in plain Hindi)

Networking एक process होती है जिसमें networks को create और configure किया जाता है। यह कार्य hardware और software दोनों के उपयोग से किया जाता है। Network को create करने के लिए hardware के रूप में अलग अलग networking devices जैसे की hub, switch, router आदि use किये जाते है। Software के रूप में protocols के अलावा आप इन devices को command line interface के द्वारा एक दूसरे के साथ काम करने के लिए configure और manage करते है।

Network establish होने के बाद network के सभी device आपस में communication और information sharing करते है। Network devices के द्वारा share की जाने वाली information कई प्रकार की हो सकती है। जैसे की Messages, Documents, Music, Files, Databases आदि।

Networks में एक दूसरे से communicate करने के लिए devices कुछ rules follow करते है। ये rules protocols कहलाते है। कुछ common protocols की list नीचे दी जा रही है। 

Networks communication के लिए एक model follow करते है। ये model एक blueprint होता है जो define करता है की network पर communication कैसे होगा। सबसे common network model TCP/IP है। 

Types of Networks

Networks को उनकी size के according कई categories में divide किया गया है। Network के types नीचे दिए जा रहे है –

LAN (Local Areal Network)

LAN एक high speed network होता है। ये बहुत ही छोटा network होता है। जैसे की एक बिल्डिंग या कैंपस के लिए LAN को use किया जा सकता है। LAN में communication के लिए different technologies यूज़ की जाती है जिनमे Ethernet सबसे common technology है।

local-area-network-in-Hindi

WAN (Wide Area Network)  

एक WAN network कई LAN networks को आपस में connect करता है। ये बहुत बड़ा area cover करता है। अलग अलग देशों के network आपस में WAN के द्वारा ही connected रहते है। ये एक ग्लोबल नेटवर्क होता है।

wide-area-network-in-Hindi

MAN (Metropolitan Area Network) 

ये कई LAN networks को आपस में connect करता है। लेकिन इस network type का area छोटा होता है, जैसे की कोई campus, city या state आदि।

VPN (Virtual Private Network)

इस network से आप अपनी information किसी public network के द्वारा securely भेज सकते है। इस network को आप किसी organization की 2 branches के बीच establish कर सकते है।

Network Architecture

Network architectures 3 तरह के होते है। Architectures के बारे में जानने से पहले आइये कुछ basic terms के बारे में जानने का प्रयास करते है।

  • Host – Host कोई भी वो device होता है जो network से connected होता है। 
  • Client – वो host जो data या service के लिए request करता है client कहलाता है। उदाहरण के लिए आप किसी web page के लिए web browser के द्वारा request करते है।  
  • Server – वो host जो data या service प्रोवाइड करता है, server कहलाता है।  
  • Peer  –  ऐसा host जो data या service के लिए request भी कर सकता है और provide भी कर सकता है, Peer कहलाता है। 

आइये अब different architectures के बारे में जानते है। 

Peer to Peer Architecture 

किसी भी peer to peer architecture में सभी host data/service के लिए request भी कर सकते है और data/service प्रोवाइड भी कर सकते है।

peer-to-peer-architecture-in-Hindi

Client/Server Architecture

Client/server architecture में एक host server होता है और बाकी सब host client होते है। सभी clients data/service के लिए server को request करते है और server सभी clients को response करता है।

client-server-architecture-in-Hindi

Mainframe Architecture 

Mainframe architecture में data/services एक ही host पर store होती है जिसे mainframe कहते है। सब host इस mainframe से जुड़े होते है जिन्हे terminals कहते है। ये terminals dumb होते है और खुद कुछ भी task perform नहीं करते है। Terminals को सिर्फ input और output के लिए यूज़ किया जाता है।

mainframe-terminal-architecture-in-Hindi

62 thoughts on “CCNA in Hindi : Networks”

  1. Bahut Badhiya Aap Jaise Logon Ki Kami Hai Bharat ko Jo Apni Matra Bhasha Mein Gyan Upladh Nishulk Baant Rahe Hai Dhanywad aapka

    1. IPV6 me special purposes ke liye kuch addresses ko reserve kiya gya h jinhe special addresses kaha jata h. Special purposes jese ki loopback address, default route aadi.

      I will try to write a detailed article about it soon. Thanks for notifying about this vital topic.

  2. Sir our external link has dowm and everyone server connect with external link. so can i access all internal resources like as network printer etc.?

    1. If your server is down you can't. But if the link between your server and some external server is down than I don't see any problem. Local resources should be easily available.

  3. apka bohot bohot dhanyabad ki aap hum logo ko matra bhasa mein technical gyan bant rahein hain aur iske jariye hamare matra bhasako lupt hone se bacha rahe hain.isse ye uplabdhi hoti hain ki agar kuch sikhna ho toh use app koi bhi bhasa mein sikh sakte hain uske liye english sikhna utna jyada sikhna jaruri nahi hai thoda bohot jankari se hi kam chal jayega. kyunki technical word ki utpatti thi agar agar bharat mein hoti toh word hindi mien hoti.. dhanyabad

    1. Bilkul thik kaha apne. Yedi kisi me really me kuch karne ki iccha h to language se koi khas fark nahi padta h. Apne vichar humare sath share karne ke liye dhanyvad.

    1. CCNA Cisco ka hi certification h. Me aapko CCNA hi suggest karunga becoz Cisco certifications ki value kisi bhi dusre certification se adhik h.

Comments are closed.