Data Structures in Hindi : Types

Types of Data Structures

  • Introduction to data structure types in Hindi
  • Primitive data structures in Hindi 
  • Non-primitive data structures in Hindi

Introduction to Data Structure Types 

एक ही तरह से data को store और organize करके आप अलग अलग problems को solve नहीं कर सकते है। अलग अलग तरह की problems को solve करने के लिए आपको अलग अलग तरह के data structures create करने की आवश्यकता होती है। 

हर तरह के data structure का data organization mechanism और operational behaviour अलग अलग होता है जो उसे दूसरे data structures से अलग बनाता है।

उदाहरण के लिए कुछ data structures आपको programming languages द्वारा पहले से provide किये जाते है और कुछ data structures आप स्वयं create करते है। कुछ data structures simple होते है और कुछ data structures बहुत complex होते है। कुछ data structures user द्वारा operations allow करते है और कुछ data structure automatically भी operations perform करते है। 

ऐसी ही characteristics के आधार पर data structures को अलग अलग श्रेणियों में विभाजित किया गया है। इसे निचे block diagram द्वारा दिखाया गया है। 

Types-of-data-structures-in-Hindi


ऊपर दिए गए block diagram में अलग अलग types के data structures का classification show किया गया है। आइये अब data structures के अलग अलग types के बारे में detail से जानने का प्रयास करते है। 

Primitive Data Structures

एक data type किसी specific type के data को store करने के लिए structure provide करता है। इसलिए programming languages द्वारा provided primitive data types को भी data structures ही माना जाता है। ये data structures primitive data structures कहलाते है। 

सभी programming languages निचे दिए जा रहे primitive data types provide करती है। 
  • int - Integer data store करने के लिए। 
  • float - Floating point data store करने के लिए। 
  • double - यह data float की तरह ही होता है। इसे दशमलव के बाद 7 से अधिक values store करने के लिए प्रयोग किया जाता है। 
  • character - शब्द store करने के लिए। 
  • boolean - True और false values store करने के लिए। 

Non-primitive Data Structures

Primitive data types के combination से non-primitive या user defined data types create किये जाते है इसलिए user defined data types को non-primitive data structures भी कहा जाता है। 

Non-primitive data structures same type के या अलग अलग type के primitive data structures के combination से मिलकर बने होते है। उदाहरण के लिए एक integer numbers का array non-primitive data structure होता है। 

Non-primitive data structures को (Linear और Non-linear) दो categories में divide किया गया है। इनके बारे में निचे बताया जा रहा है।

Linear Data Structures

Linear data structures ऐसे data structures होते है जो elements को linear sequence में store करते है। उदाहरण के लिए एक array के elements continuous locations पर एक बाद एक store होते है। 

इस tutorial series में आप जिन linear data structures के बारे में जानेंगे उनका overview निचे दिया जा रहा है। 

Arrays 

एक array सबसे simple non primitive linear data structure होता है। Array में elements contiguous memory locations में store किये जाते है। एक array same (data) type के variables का collection होता है जिसे एक common नाम के द्वारा present किया जाता है।

उदाहरण के लिए आप floating point numbers का एक array create कर सकते है और उसमे floating point numbers को store कर सकते है।

Stacks 

Stack एक linear data structure है जिसमें elements एक ही तरफ से (top) add और remove किये जाते है। Stack में elements उसी प्रकार organize किये जाते है जिस प्रकार किसी restaurant में plates को (एक के ऊपर एक) organize किया जाता है। 

जिस प्रकार सबसे आखिर में रखी गयी plate सबसे पहले उठाई जाती है। उसी प्रकार किसी stack में सबसे आखिर में insert किया गया element सबसे पहले access होता है और सबसे पहले insert किया गया element सबसे आखिर में access होता है।

Queues 

एक queue ऐसा data structure होता है जिसमे elements को एक तरफ से (पीछे की तरफ से) insert किया जाता है और दूसरी तरफ से (आगे की तरफ से) remove किया जाता है। 

जिस प्रकार आप किसी line में खड़े होते समय सबसे आखिर में खड़े होते है और service पाने के बाद सबसे आगे से जाते है। उसी प्रकार एक queue data structure भी First In First Out order में काम करता है जिसमे elements एक side से insert किये जाते है और दूसरी side से remove किये जाते है। 

Singly Linked Lists 

एक linked list data structure elements का linear collection होता है। Linked list data structure में एक element दूसरे element को point करता है। हर element के साथ एक Next pointer या link node जुडी हुई होती है जो list के अगले element को memory में point करती है।

Linked list के द्वारा आप arrays की drawbacks को overcome कर पाते है और एक ऐसा data structure उपयोग कर पाते है जो memory का सही utilization करता है और जिसमे operations आसानी से perform किये जा सकते है।

Non-linear Data Structures 

Non-linear data structures ऐसे data structures होते है जिनमें elements linear sequence में नहीं store होते है। उदाहरण के लिए एक tree data structure में elements को linear sequence में नहीं store किया जाता है इसलिए tree एक non-linear data structure होता है।

इस tutorial series में आप जिन non-linear data structures के बारे में जानेंगे उनका overview निचे दिया जा रहा है।

Trees

Tree data structures का प्रयोग ऐसे data को represent करने के लिए किया जाता है जिसमें किसी entity और उसके attributes में hierarchical relationship होती है। Tree data structure में data और उसकी entities parent nodes और child nodes के रूप में represent की जाती है। 

एक linked list में एक node किसी दूसरी एक ही node को point करती है लेकिन एक tree data structure में एक node कई nodes को point कर सकती है। Tree data structure में child nodes की भी child nodes हो सकती है। 

Graphs 

Graphs non-linear data structures होते है जिनका प्रयोग कई प्रकार से किया जाता है। Graphs का प्रयोग electrical circuits के analysis के लिए, shortest routes ढूँढने के लिए, project planning के लिए, highway, landlines और railway lines आदि को represent करने के लिए भी graphs का प्रयोग किया जाता है। 

      DMCA.com Protection Status

 Leave a comment