Data Structures in Hindi : Queue

Queue

  • Introduction to queue in Hindi 
  • Implementation of queue in Hindi 
  • Operation of queue in Hindi 

Introduction to Queue

Queue एक linear data structure है। Queue में नए element का addition एक तरफ (rear/पीछे) से और पुराने elements का deletion दूसरी तरफ (front/आगे) से होता है।

Queue data structure को आप किसी ticket window पर लगी हुई लोगों की line से compare कर सकते है। जब कोई भी नया person line से जुड़ेगा तो वह line के आखिर में (rear/पीछे से) जुड़ेगा। जब ticket पाने के बाद कोई person line से अलग होगा तो वह हमेशा line के आगे (front) से हटेगा।

Ticket line में जो person सबसे पहले आता है वह सबसे पहले ticket प्राप्त करता है और चला जाता है। इसी प्रकार queue data structure में भी जो element पहले add किया जाता है वह पहले remove किया जाता है।

यानी की elements जिस order में add किये जाएंगे उसी order में remove किये जायेंगे। यही कारण है की queue को First in First Out (FIFO) Structure भी कहा जाता है।

Computer science में queue data structure का उपयोग time sharing tasks में किया जाता है। जब बहुत से task computer द्वारा process किये जाने हो तो वे queue के रूप में organize किये जाते है।

Similarities Between Stack And Queue 

Stack और queue data structure में कुछ समानताएँ होती है। इनके बारे में निचे बताया जा रहा है। 
  • Stack और queue data structures के middle में insertion और deletion operation नहीं perform किये जा सकते है। इन दोनों ही data structures में ये operations end sides से perform किये जाते है। 
  • दोनों data structures ही array या linked list में implement किये जा सकते है। 
  • दोनों data structures temporary memory locations का उपयोग करते है। 

Difference Between Stack And Queue 

Stack और queue data structure में कुछ असमानताएँ होती है। इनके बारे में निचे बताया जा रहा है। 
  • Stack LIFO order में work करता है और उसमें insertion और deletion एक ही तरफ (TOP) से होता है। लेकिन Queue FIFO order में work करता है और उसमें insertion rear (पीछे) से और deletion front (आगे) से होता है। 
  • Stack का प्रयोग process किये जाने वाले tasks को hold करने के लिए किया जाता है और queue का प्रयोग tasks की sheduling के लिए किया जाता है। 

Implementation of Queue

Stack की ही तरह queue को भी दो प्रकार से implement किया जा सकता है।

Static Implementation 

Static implementation में queue data structure create करने के लिए array का प्रयोग किया जाता है। Static implementation को सबसे ज्यादा use किया जाता है। 

Static implementation में memory का सही utilization नहीं किया जा सकता है। क्योंकि queue की size को compile time पर define किया जाना आवश्यक होता है। Static implementation में queue की size fix होती है। उसे change नहीं किया जा सकता है।

Static implementation में queue define करने का तरीका निचे बताया जा रहा है।

int queue[size];
int front = -1;
int rear = -1;

जैसा की आप ऊपर दिए गए syntax में देख सकते है queue को array के रूप में define किया गया है। इसके बाद front और rear variables define किये गए है। Queue data structure में operations perform करने के लिए इन variables को define किया जाना आवश्यक है। इन्हें शुरआत में -1 से initialize किया जाता है। जैसे जैसे आप operations perform करते जाते है इनकी values बढ़ती और घटती रहती है।

Dynamic Implementation 

Dynamic implementation में queue data structure create करने के लिए linked list का प्रयोग किया जाता है। क्योंकि linked list dynamic memory allocation को support करती है। इसलिए queue के dynamic implementation में memory का सही utilization होता है।

Dynamic implementation में queue define करने का तरीका निचे बताया जा रहा है।

struct Queue
{
    int data;
    struct queue *Next;
}

struct Queue *front;
struct Queue *rear;

जैसा की आप ऊपर दिए code में देख सकते है dynamic implementation के लिए एक linked list create की गयी है। इसके बाद उस linked list के front और rear variables भी create किये गए है।

Operations of Queue

Queue data structure के साथ निचे दिए जा रहे operations perform किये जा सकते है।
  • Insertion - इस operation द्वारा queue में नए elements जोड़े जाते है। 
  • Deletion - इस operation द्वारा queue से पुराने elements remove किये जाते है। 

      DMCA.com Protection Status

 Leave a comment