Loading...

CCNA in Hindi – VLAN Troubleshooting

  • Introduction to VLAN troubleshooting in Hindi
  • Commands used for VLAN troubleshooting in Hindi

Introduction to VLAN Troubleshooting

VLAN एक networking technique है जिसमे एक LAN में available कुछ hosts को मिलाकर एक virtual LAN create की जाती है। ये hosts उसी switch से जुड़े रहते है और उसी LAN के members होते है। लेकिन फिर भी VLAN create किये जाने पर ये इस प्रकार behave करते है जैसे की ये किसी separate LAN में हो।

VLAN Help in Network Organization 

एक organization में बहुत सारे hosts होते है जो अलग अलग departments से सम्बंधित होते है। इन सभी hosts को इनके departments के अनुसार आप अलग अलग VLAN में divide कर सकते है।

इसके अलावा अलग अलग LAN से कुछ hosts को मिलकर एक separate group (VLAN)  भी create किया जा  सकता है।

VLAN provides security 

कई बार आपको कुछ hosts को secure करने की आवश्यकता होती है ऐसे में उन्हें VLAN से separate करके आप उन्हें secure बना सकते है।

VLAN Reduces Unnecessary Traffic 

जब एक LAN में packet send किया जाता है तो उसका MAC address resolve करने के लिए broadcast messages send किये जाते है जिससे network में बहुत अधिक traffic बढ़ जाता है। ऐसे में आप अलग अलग areas के आधार पर VLAN से network hosts को divide कर सकते है। ऐसा करने से broadcast messages पुरे network में सभी hosts को नहीं जायेंगे और अनावश्यक traffic load नहीं बढ़ता है।

VLAN के बारे में पहले एक tutorial में detail बताया जा चुका है। VLAN को troubleshoot करने से पहले यह आवश्यक है की आप उसे अच्छी तरह configure करना सिख लें। इसलिये आगे बढ़ने से पहले में आपको VLAN in Hindi tutorial पढ़नी चाहिए।

When We Troubleshoot a VLAN

जब एक ही VLAN में होते हुए भी एक host दूसरे device से data send और receive करने में unable हो तो ऐसी situation में VLAN को troubleshoot करने की आवश्यकता होती है। 

VLAN में connectivity नहीं होने के कई कारण हो सकते है जैसे की interface down होना आदि। इन्हें identity करके VLAN में connectivity establish करना यह एक network administrator का काम है। 

Who Should Learn It?

सामान्य network troubleshooting से VLAN troubleshooting अलग है। VLAN troubleshooting कुछ अलग commands की आवश्यकता होती है। 

कोई भी व्यक्ति जो एक network administrator है या बनने की इच्छा रखता है उसे VLAN troubleshooting आवश्यक रूप से सीखनी चाहिए।

Commands Used for VLAN Troubleshooting

VLAN के troubleshoot करते समय सबसे पहले physical connectivity check की जाती है। यदि devices physically connected नहीं है तो सही configuration होने पर भी वे communicate नहीं कर सकते है। 

Physical connectivity को verify करने के लिए show interfaces command execute करते है।

switchA# show interfaces status

इस command को execute करने से आपको सभी interfaces की list उनके status और वे कौनसे VLAN से सम्बंधित है जैसी information के साथ दिखाई देती है। 

यदि physical connectivity ठीक है तो इसका मतलब है की configuration में ही कँही पर गलती हुई है। अब आपको यह check करने की आवश्यकता होती है की जिस VLAN में communication करने का प्रयास किया जा रहा है वह असल में configure की गयी है या नहीं।

कई बार ऐसा होता है की network administrators VLAN configure करना भूल जाते है। इसके लिए आप show vlan command use करते है।

switchA# show vlan

Show vlan command बताती है की database में कौन कौन सी VLAN available है। इस command से प्राप्त result के आधार पर आप देख पाते है की कौन कौन से vlans available है।

इसके बाद आप यह देखते है की जिस switch port द्वारा आप communicate करने का प्रयास कर रहे है कँही वह disabled तो नहीं है। इसके लिए निचे दी गयी command use की जाती है।

switchA# show interfaces <interface-name> switchport

इस command के बारे में खास यह है की यह command एक particular port के बारे में जानकारी प्रदान करती है। जैसे की उसका नाम, switch port status और access mode आदि।

इसके बाद आप यह देखते है की interface correct vlan में configured है या नहीं। इसके लिए निचे दी जा रही command use की जा सकती है।

switchA# show mac address-table

यह command बताती है की कौनसी कौनसा port कौनसी vlan से connected है। यदि port correct vlan में नहीं तो आप निचे दी जा रही command द्वारा उसे correct VLAN में configure कर सकते है।

switchA# switchport access vlan 10

When VLAN Leaking

जब hosts जो अलग अलग switches से connected है लेकिन एक ही VLAN के members है और फिर भी उनमें connectivity नहीं है तो ऐसे में trunk links को troubleshoot करने की आवश्यकता होती है। इस situation को VLAN leaking कहा जाता है। 

जब आप show vlan command का प्रयोग करते है तो आपको सिर्फ access ports की जानकारी प्राप्त होती है। Trunk ports की जानकारी के लिए आपको सबसे पहले निचे दी जा रही command use करनी चाहिए। 

switchA# show interfaces trunk

यदि आपने trunk ports configure किये है और फिर भी यह command कोई output show नहीं करती है तो इसका अर्थ है की VLAN leaking हो रही है।

इसके बाद आप किसी particular interface को भी check कर सकते है की उस पर trunking enabled है या नहीं। इसके लिए आप निचे दी जा रही command use करते है।

switchA# show interfaces <interface-name> trunk

यदि trunking configured नहीं है तो output में आपको status not-trunking show होगा।