Loading...

Linux in Hindi – File Links

  • Introduction to linux file links in Hindi
  • Linux soft and hard file links in Hindi

Introduction to Linux File Links

Linux में file links pointers होती है जो disk में available actual file को point करती है। File links create करने की बहुत सी advantage होती है। File create करना बहुत अच्छी practice मानी जाती है।

File Becomes Widely Available

File links के प्रयोग से एक file को अलग अलग जगहों से access किया जा सकता है। User उसकी इच्छानुसार कहीं भी link create कर सकता है और वहीं से file को access कर सकता है।

Can Have Different Names

File को अलग अलग नाम दिए जा सकते है। यदि आप चाहते है की आप किसी file को अलग नाम से access करें तो file link को दूसरे नाम से access कर सकते है।

ls -l Command Can Be Used To See File Links

System में available file links को देखने के लिए ls -l command use की जा सकती है। इस command के output में किसी file की links के count को अलग column में show किया जाता है।

linux-ls-command-l-option

Changes Are Reflected Everywhere

यदि किसी एक file link के द्वारा file में changes perform किए जाते है तो वे changes सभी links में और original file में show होते है।

Types of Linux File Links

Linux में file links दो प्रकार की होती है।

  • Hard Links
  • Soft (symbolic) Links

ये links इनकी update होने की ability के आधार पर differentiate की जाती है।

Hard Links

Hard links reliable file links होती है। यदि original file move या remove भी कर दी जाती है तो भी hard links connected रहती है। क्योंकि hard links की inode value original file जैसी ही होती है। इसलिए hard links हमेशा actual file की location को refer करती है।

Hard links एक file system से दूसरे file system के लिए कार्य नहीं करती है। Hard links उसी file system में create की जा सकती है जिसमें actual file available है।

Original file की तरह ही hard links में भी actual file content होता है।

Directories के लिए hard links नहीं create की जा सकती है। क्योंकि इससे loops create हो सकते है जो की system के लिए critical हो सकते है।

Hard links create करने के लिए ln command use की जाती है।

ln [original-file-name] [hard-link-name]

सबसे पहले उस file का नाम define किया जाता है जिसकी hard link आप create करना चाहते है। इसके बाद original file define की जाती है। Hard links create करने के लिए आपको किसी प्रकार का special option use करने की आवश्यकता नहीं होती है।

Soft (Symbolic) Links

Linux में soft links windows में available file shortcuts की तरह होती है।

यदि original file move या remove की जाती है तो soft links ठीक प्रकार से कार्य नहीं करती है। क्योंकि हर soft link की एक अलग inode value होती है।

Soft links cross systems के लिए कार्य कर सकती है। Soft links create करने के लिए यह आवश्यक नहीं है की original file भी उसी file system में ही हो।

Linux में soft links create करने के लिए ln command के साथ -s option use किया जाता है।

ln -s [original-file-name] [soft-link-name]

Examples of Linux File Links

मान लीजिए आप Employee.txt file की एक hard link create करना चाहते है तो इसके लिए इस प्रकार command लिखेंगे।

ln Employee.txt Emp.txt
linux-hard-links

Employee.txt file की soft link इस प्रकार create की जा सकती है।

ln -s Notebook.txt NB.txt
linux-soft-links