Loading...

Linux in Hindi – su Command

  • Introduction to linux su command in Hindi
  • Options and examples of linux su command in Hindi

Introduction to Linux su Command

Linux में su command आपको current login session से दूसरे user के रूप में कार्य करने की ability provide करती है। इस command का पूरा नाम switch user होता है।

हो सकता है की आप administrator के रूप में login हो। लेकिन कुछ files के लिए ऐसी permission हो सकती है जिससे सिर्फ़ उनका creator (user) ही उन्हें edit कर सकता है। ऐसे में उन files को edit करने के लिए आपको उस user के रूप में login होना होगा। जिसके लिए su command use की जा सकती है।

कई बार किसी user विशेष के login environment में कोई problem create हो सकती है। ऐसे में उसे troubleshoot करने के लिए भी आपको उस user में रूप में login होने की आवश्यकता हो सकती है।

Linux su command के द्वारा दूसरे user के रूप login होते समय उस user का password पूछा जाता है जो successfully login होने के लिए आपको पता होना चाहिए।

Difference Between sudo and su Commands

कई बार इस command को sudo command के साथ confuse कर लिया जाता है। लेकिन यह command sudo command से बहुत अलग है।

Linux में sudo command का प्रयोग super user (root) के रूप में कोई command execute करने के लिए execute की जाती है। इस command से आप उस environment में login नहीं होते है। सिर्फ़ super user के रूप में एक single command execute की जाती है।

इसके अलावा sudo command के द्वारा आप super user के अलावा किसी दूसरे user के रूप में कार्य नहीं कर सकते है।

लेकिन अगर su command की बात की जाए तो इस command के प्रयोग से आप किसी भी दूसरे user के रूप में कार्य कर सकते है। यह command सिर्फ़ एक ही command के execution तक सीमित नहीं होती है। इस command के प्रयोग से आप पूर्ण रूप से उस user के interface में login हो जाते है आप जितनी चाहे commands execute कर सकते है।

Syntax

जब su command को बिना किसी user name के execute किया जाता है तो root (super user) का login interface open कर दिया जाता है।

su 

यदि आप किसी और user के रूप में login होना चाहते है तो इसके लिए आप su command के बाद उस user का नाम pass कर सकते है।

su [user-name]

इसके अलावा su command के साथ कुछ options भी available है जो user name से पूर्व define किए जाते है।

su [option] [user-name]

Options

OptionExplanation
-, -l, –login इस option के प्रयोग से ऐसा environment provide किया जाता है जिससे लगता है की आप real में ही उस user के रूप में login हुए है।
-s, –shellइस option की मदद से आप वह shell define कर सकते है जो दूसरे user के रूप में login करते समय use की जानी चाहिए। यदि preserve environment options का उपयोग किया गया होता है तो $SHELL environment variable द्वारा define की shell use की जाती है।
-m, -p, –preserve-environment$PATH और $IFS environment variables को छोड़कर current environment को preserve करें।

-c Option

इन options के अलावा su command के साथ -c option भी प्रयोग किया जाता है। यह option user name के बाद define किया जाता है। इस option के द्वारा नए shell को commands argument के रूप में pass की जा सकती है।

su [user-name] -c [command]

जैसे ही आप दूसरे user के रूप में login होते है automatically -c option के बाद पास की गयी command execute कर दी जाती है।

Exiting su Command Interface

Linux su command से आप दूसरे user के login session में कार्य करते है। वापस स्वयं के session में आने के लिए आप exit type करके enter press कर सकते है। इसके अलावा आप ctrl और d keys को press करके भी दूसरे user के login session को exit कर सकते है।

Examples of Linux su Command

su 
linux-su-command
su user-name
linux-su-command-with-user-name
su user-name -c pwd
linux-su-command-c-option