7 Habits of successful students

7 Habits of Successful Students

किसी भी व्यक्ति का चरित्र उसकी आदतों से मिलकर बना होता है। आप जीवन में कितना सफल रहते है इसमें आपकी आदतों की बहुत बड़ी भूमिका होती है। ये वो काम होते है जो आप हर रोज़ करते है। ये आपकी सफलता पर अत्यधिक प्रभाव डालते है।

आपकी कुछ आदतें ऐसी होती है जो आपको success से दूर ले जाती है और ज्यादातर students को इसके बारे में पता भी नहीं चलता है। जैसे की घंटो TV देखने में समय बर्बाद करना, YouTube पर videos देखना आदि। लेकिन यदि इन आदतों की जगह कोई अच्छी आदतें जैसे की exercise करना, regularly पढ़ना आदि विकसित कर ली जाये तो आप जीवन में बहुत कुछ कर सकते है।

आज इस article में मै आपको ऐसी 7 habits के बारे में बताने जा रहा हूँ जो successful students में पायी जाती है। यदि ये habits आप में है तो ये आपके लिए advantage है। यदि ये habits आप में नहीं है तो आपको इन habits को विकसित करना चाहिए। 

They Study Regularly

जो सबसे महत्वपूर्ण आदत एक successful student को दूसरे students से अलग करती है वो regularly पढ़ाई करने की आदत होती है। इसी आदत की वजह से successful students को दूसरे students से अधिक knowledge होती है और वो जरुरी information भूलते भी नहीं है। 
Regularly पढ़ाई करने की आदत आपको अवश्य विकसित करनी चाहिए। इस आदत के कई फायदे होते है। जिसमें सबसे बड़ा फायदा ये होता है की exam time में आप पर pressure नहीं होता है और आप दूसरे students से ज्यादा confident feel करते है। 
इस आदत को विकसित करने के लिए आपको ज्यादा कुछ भी नहीं करना होता है। बस आप अपने daily schedule में पढ़ाई के लिए 1 से 1.30 घंटा चुन लीजिये और इस समय में सभी कुछ छोड़ कर अपना ध्यान पढ़ाई पर लगाइये।        

They Are Very Good Listeners 

सभी successful students बहुत अच्छे श्रोता होते है। Class में 90 प्रतिशत students ऐसे होते है जो teacher की बात ध्यान से नहीं सुनते है। यदि कभी teacher उनसे पूछ भी लेते है तो वे कुछ भी नहीं बता पाते है। लेकिन successful students ऐसे नहीं होते है। वे teacher के द्वारा कही हर बात को बहुत ध्यान से सुनते है।   
सभी successful students को इस बात का पता होता है की जो teachers बोलते है वह बहुत important है। और जो topics teachers के द्वारा आसानी से समझ में आ सकते है वे खुद के पढ़ने पर नहीं समझ में आ सकते है। 
आपको भी एक अच्छा listener बनने का प्रयास करना चाहिए। इससे आपसे कभी कोई महत्वपूर्ण information छूटेगी नहीं। 

They Communicate with Teachers 

सभी successful students teachers के साथ communicate करते है। ये एक बहुत ही महत्वपूर्ण आदत है। ऐसा करने से वे teachers के प्रिय तो बन ही जाते है और साथ ही जब भी उन्हें study से related कोई doubt होता है तो वे teachers मदद भी ले लेते है। 
ज्यादातर students teachers से communicate करने में हिचकिचाते है। लेकिन यदि आपको academics में सफल होना है तो आपको teachers का प्रिय जरूर बनना होगा। यदि आप teachers से class में communicate नहीं कर पाते है तो आप उनसे class के बाद या फिर email या social media के through भी communicate कर सकते है। 

They Attends Classes Regularly 

सभी successful students classes regularly attend करते है। यँहा मेरा मतलब physically classes attend करने से ही नहीं बल्कि mentally भी attend करने से है। ज्यादातर students classes के महत्व को नहीं समझते पाते है। 
Classes में आपको semester के end में होने वाले exams के लिए हर दिन prepare किया जाता है। मेरा मानना है की यदि आप सिर्फ classes में भी ठीक तरह से ध्यान दे कर पढ़े तो आप academics में काफ़ी बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते है।   
यदि आप regularly classes attend करने और ध्यान से समझने की आदत विकसित कर ले तो आप पाएंगे की हर दिन धीरे धीरे आपकी subject पर पकड़ बनती जाएगी। ऐसा करने से आप काफ़ी confident भी महसूस करेंगे। 

They Prepare Notes 

सभी अच्छा प्रदर्शन करने वाले students हमेशा regularly notes prepare करते है। इस आदत के कई फायदे है जैसे की जब आप notes prepare करते है तो 40 प्रतिशत information आपको तब ही याद हो जाती है। साथ ही आपके पास ऐसा material भी create हो जाता है जिस पर आप पूरी तरह विश्वास कर सकते है। 
यदि आप notes prepare नहीं करते है तो आपको ऐसा करना चाहिए। ऐसा करने से आपकी writing भी improve होगी और subject की knowledge भी आपको होगी। 

They Eat Properly 

सभी successful students में जो common habit पायी जाती है वो ये है की वे कभी भी जरुरत से ज्यादा नहीं खाते है। दूसरे students की तरह वे eating disorder के शिकार नहीं होते है। वे जानते है की यदि वे जरुरत से ज्यादा खाएंगे तो पढ़ नहीं पायेंगे और धीरे धीरे आलसी बन जायेंगे। 
आपको भी एक सही eating habit विकसित करनी चाहिए। आप सिर्फ उतना ही खायें जिससे आपको आलस्य न हो और आप आराम से पढ़ सके। 

They Help Others

सभी successful students दूसरे students की मदद करते है। उन्हें इस बात पर कभी घमंड नहीं होता की वो दूसरों से अधिक पड़ते है और ज्यादा जानते है। इससे वे अपनी knowledge को और भी ज्यादा बढ़ा पाते है। 
जब आप दूसरे students की मदद करते है तो आप भी बहुत कुछ सीखते है। आपको हमेशा दूसरों की मदद करने की आदत विकसित करनी चाहिए। इससे आपका व्यक्तित्व झलकता है।             
आशा करता हूँ की आपको इन आदतों के बारे में जानकर अच्छा लगा होगा और आप इन्हें खुद में विकसित करने का प्रयास करेंगे। धन्यवाद!  

5 common mistakes during studies

5 Common Mistakes During Studies   

हैलो दोस्तों, एक बार फिर में आपके साथ पढ़ाई से related कुछ information share करने जा रहा हूँ। ज्यादातर students पढ़ाई करते समय struggle करते है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वो कुछ mistakes कर रहे होते है जिनके बारे में उन्हें खुद पता नहीं होता है।
आज में आपको ऐसी 5 mistakes के बारे में बताने जा रहा हूँ जो मुमकिन है आप पढ़ाई के दौरान कर रहे हो। इन mistakes को identify करके इन्हें आप हटा सकते है और अच्छे पढ़ाई के समय का आनंद ले सकते है।

Incomplete Material 

जो सबसे आम गलती students पड़ते समय करते है वो है अधूरी सामग्री के साथ पढ़ाई करना। एक कहावत है की जिस छेत्र में आपके पास जितना ज्यादा और उत्तम ज्ञान होता है उस छेत्र में आप उतना ही confident महसूस करते है। जब आप किसी ऐसी सामग्री से पढ़ाई करने की कोशिश करते है जिसे आप खुद अच्छा नहीं मानते तो आप अच्छी तरह नहीं पढ़ पाते है। उदाहरण के लिए यदि आप किसी दूसरे student के द्वारा बनाए गए class notes से पढ़ने की कोशिश करते है तो इसे incomplete material माना जाता है।

आपको हमेशा किसी trusted study material से ही पढ़ाई करनी चाहिए। जैसे की आप उस subject से related best author की book खरीद सकते है। या फिर कोई भी ऐसा study source जिस पर आपको पूरी तरह विश्वास हो। जब आप किसी अच्छे study material से पढ़ाई करते है तो आपका confidence automatically high हो जाता है।

No Schedule 

एक और जो सबसे बड़ी गलती students पढ़ाई करते समय करते है वो है बिना किसी plan और schedule के पढ़ाई करना। जब आप एक schedule को follow करते हुए पढ़ाई करते है तो आपका दिमाग ज्यादा focused और confident होता है। Schedule को follow करते हुए आप दिमाग को संकेत देते है की इस समय सिर्फ पढ़ाई पर concentrate करना है। इससे दिमाग active हो जाता है और आप information को तेजी से समझ पाते है।

जब आप बिना किसी schedule के पढ़ाई करते है तो आपका दिमाग़ इतना focused नहीं होता है क्योंकि उसे पता नहीं होता है की पड़ी जाने वाली information के साथ क्या करना है। ऐसी situation में दिमाग़ उस information को भुला देता है।

Passive Learning 

भारत में 90% students passive learners है। ये वो learners होते है जो information को अपने दिमाग तक पहुंचाने और उसे वहाँ लंबे समय तक store करने के लिए कोई activity नहीं करते है। केवल study material को पढ़ना ही पर्याप्त नहीं होता है आपको इसे अपने दिमाग की जड़ों तक पहुंचाने के लिए कोई न कोई activity जरूर करनी चाहिए। उदाहरण के लिए आप पढ़ते समय important points को mark कर सकते है या notes बना सकते है।      

Learning All At Once 

जब आप पढ़ाई करना शुरू करते है तो शुरू में आपका दिमाग़ fresh और sharp रहता है। कई students 2 से 3 घंटे तक लगातार पढ़ते रहते है। ऐसा माना जाता है की जैसा fresh दिमाग़ शुरू के 30 minutes रहता है वैसा 2 घंटे बाद नहीं रहता है। इसलिए यदि आप उन students में से है जो लगातार लंबे समय के लिए पढ़ाई करते है तो में आपको suggest करूँगा की आप अपनी ये strategy change कर लें। 
चाहे आपका study material कितना भी अधिक क्यों ना हो, आपको हमेशा 30 या 35 minutes के sections में पढ़ाई करनी चाहिए। और इसके बाद आप 10 से 15 minutes का break ले सकते है। हालांकि ये strategy आपको थोड़ी अजीब सी लग सकती है, लेकिन इस strategy के बहुत सारे long term benefits है। 
जब आप इस प्रकार पढ़ाई करते है तो आपका दिमाग़ fresh रहता है। इस प्रकार पढ़ाई करने से आप थकते भी नहीं है और साथ ही आपका दिमाग़ information को तेजी से absorb भी करता है। 

Not Paying Attention in Classes

ज्यादातर students की ये मान्यता है की classes सिर्फ बातें करने के लिए होती है और college सिर्फ attendance  और मौज मस्ती के लिए जाना होता है। ऐसा कई कारणों से हो सकता है। उदाहरण के लिए कई students सोचते है की जब अंत में रट के ही pass होना है तो क्यों फालतू classes में दिमाग़ waste किया जाये। 
बहुत कम students मानते है की classes में teachers के द्वारा important concepts समझाए जाते है और एक college शिक्षा का मंदिर होता है। आपकी studies में कुछ ऐसे concepts भी होते है जो आप खुद नहीं समझ सकते है। यदि आप classes में ठीक तरह से ध्यान दे तो आपका studies को लेकर pressure काफ़ी हद तक कम हो जाता है। जब आप classes में ठीक तरह से ध्यान देते है तो subjects को लेकर आपका confidence भी बढ़ता है। 
दोस्तों मैने आपके साथ कुछ ऐसी common mistakes शेयर की है जो ज्यादातर students कर रहे होते है। हालाँकि इस दुनिया में सभी एक समान नहीं है और कोई भी perfect नहीं है लेकिन यदि आप प्रयास करे तो खुद को studies में बेहतर बना सकते है। मुझे आशा है की ये article आपको पसंद आया होगा।
धन्यवाद !                 

Study concentration tips in Hindi

Study Concentration Tips 

आप चाहे कोई भी काम करते हो उस काम की गुणवता इस बात पर निर्भर करती है की आप उसे कितनी एकाग्रता के साथ करते है। पढ़ना, खेलना, TV देखना, bike चलाना, रोजमर्रा के दूसरे काम करना सभी में एकग्रता अतिआवश्यक होती है। जब काम आपकी पसंद का हो तो आपको एकाग्र होने की आवश्यकता नहीं होती है आपका दिमाग़ स्वतः ही एकाग्र हो जाता है। लेकिन जब काम आपकी पसंद का ना हो जैसे की पढ़ना तो कुछ students को इसमें परेशानी आती है। किसी काम में concentration ना होने के और भी कई कारण हो सकते है जैसे की तनाव, मन का भटकाव और प्रतिकूल वातावरण आदि। पढ़ाई में Concentration कम होने के कई कारण हो सकते है लेकिन कुछ ऐसे आसान तरीके है जिनके बारे में जानकार आप पढ़ाई में अपनी एकाग्रता बढ़ा सकते है। आइये इन तरीकों के बारे में जानते है।

Create a Routine/Schedule/Plan 

Routine से mind trigger होता है। जब भी आप routine को follow करते है तो mind को उस particular time पर पता रहता है की ये पढ़ाई का time है और वो आपको concentrate होकर पढ़ाई करने में help करता है। जब आप बिना routine के जब मन किया तब पढ़ते है तो ऐसी situation में mind को आप पढ़ाई का संकेत नहीं दे पाते है और इस वजह से mind को concentrate होने में 15 से 20 minute तक लग जाते है। लेकिन जब आप routine follow करते है तो mind शुरआत से ही active और interested रहता है।    
आपको हर रोज़ पढ़ाई एक ही जगह पर करनी चाहिए। अलग अलग जगह पर पढ़ाई करने से बचें। ऐसा करने से भी आप mind को trigger करते है और mind ज्यादा focused हो जाता है। 

Remove Distractions

पढ़ाई करने बैठने से पहले आपको उन सब चीज़ों को दूर कर देना चाहिए जो आपको distract करती है। जैसे की mobile, TV आदि से आपको कुछ समय के लिए दूर हो जाना चाहिए। यदि आप इन चीज़ों से दूर नहीं होंगे तो पढ़ाई के दौरान ये चीज़ें आपका ध्यान आकर्षित करेंगी और आप आसानी से distract हो जायेंगे।

कभी ऐसे environment में भी ना पढ़े जँहा बहुत ज्यादा शोर हो। हमेशा एकान्त में पढ़े। ध्यान रखिये पढ़ते समय आपके environment में जितनी ज्यादा शांति होगी आप के concentration का level भी उतना ही ज्यादा होगा।             


आपको एक बार में कई subjects भी नहीं पढ़ने चाहिए। कुछ students ऐसे होते है जो एक साथ कई subjects का material लेकर पढ़ने बैठते है। ऐसा करने से वो और भी अधिक distract होते है। आपको एक बार में एक ही subject को पढ़ना चाहिए।

Develop Interest in Study

जैसा की मैने आपको पहले बताया की जब काम आपकी पसंद का हो तो आपको concentrate करने की आवश्यकता नहीं होती है आपका दिमाग़ स्वतः ही पूरी तरह concentrate हो जाता है। जैसे की video game खेलते समय आपको दिमाग़ को concentrate करने की आवश्यकता नहीं पढ़ती है। 
यदि आप अपनी studies में interest लेने लगे तो studies में भी आप स्वतः ही concentrate कर पाएंगे। लेकिन आप studies में interest कैसे create कर सकते है? किसी भी काम में interest develop करने का एक ही तरीका होता है की आप ये जाने की इस काम से मुझे क्या क्या benefit होंगे। यदि आप पढाई से होने वाले benefits पर विचार करेंगे तो जल्दी ही आपका studies में interest create हो जायेगा। 

Take Proper Rest 

अच्छी पढाई के लिए आपका दिमाग़ fresh होना चाहिए। जब आपका दिमाग़ ठीक तरह से आराम करता है तो वह fresh होता है और information को absorb करने के लिए ready रहता है। यँहा पर rest शब्द का प्रयोग mind के लिए किया गया है body के लिए नहीं। कुछ लोग इसे शरीर से जोड़ देते है और सोते रहते है। यदि आप जरुरत से ज्यादा सोयेंगे तो आप आलसी बन जायेंगे और आपका दिमाग़ चिढ़चिढ़ा हो जायेगा।  
Mind को आराम देने के लिए आप अपने favorite songs सुन सकते है या कोई sports game खेल सकते है। Mind को fresh और शांत करने का सबसे अच्छा तरीका है की आप meditation और प्राणायाम कर सकते है।

Preview

पढ़ाई में concentration बढ़ाने के लिये आपको उन topics को एक बार preview कर लेना चाहिए जो आप पढ़ने वाले है। ऐसा करने से आपकी उत्सुकता बढ़ती है और आपका दिमाग़ information को absorb करने के लिए ready हो जाता है। उदाहरण के लिए जब भी आप पढ़ने बैठे तो पढाई शुरू करने से पहले main headings को एक बार read या highlight कर सकते है और फिर पढ़ाई start कर सकते है। आप चाहे तो main headings की list भी बना सकते है। ऐसा करने से आपके सामने पुरे chapter का एक short version होगा और chapter आपको और भी आसान लगने लगेगा। 

Exercise Regularly

जब आप physically fit होते है तो आपका mind भी सही तरह से काम करता है। Regularly Exercise करने से दिमाग़ का focus बढ़ता है और ये past और future के बजाए जो काम वर्तमान में आपके हाथ में होता है उसी पर focus करता है। साथ ही exercise करने से आप तनाव मुक्त भी हो जाते है। Exercise के mental और physical बहुत से फायदे होते है इसलिए हर student को regularly exercise करनी चाहिए।     
दोस्तों ये मैने आपके साथ कुछ practical तरीके share किये है जिनसे आप अपने concentration level को improve कर सकते है। मुझे आशा है की ये article आपके लिए बहुत उपयोगी रहा होगा। धन्यवाद !   

Exam Preparation Tips in Hindi

Exam Preparation Tips in Hindi 

ज्यादातर students के लिए exam time साल का सबसे stressful time होता है। Exams academics में आपकी overall performance को दर्शाते है। School या college के exams में अच्छे grades के साथ pass होना सबसे महत्वपूर्ण होता है। इससे आपके parents, friends और teachers के सामने आपकी अच्छी छवि प्रदर्शित होती है। साथ ही exams आपके आगे के career को भी प्रभावित करते है।

Exams में आपकी performance पर बहुत कुछ depend करता है। सबसे ज्यादा तो आपका future depend करता है। ऐसे environment में stress होना normal है। इसी Stress की वजह से आप exam में अपनी true performance नहीं दे पाते है।

Study material को एकाग्रता से पढ़ने के साथ ही कुछ ऐसे तरीके भी है जिन्हें यूज़ करते हुए आप exam में बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते है। यँहा पर मैं आपके साथ कुछ ऐसी tips share करने जा रहा हूँ जिन्हें यूज़ करके आप exams में confident रह सकते है और अच्छा प्रदर्शन कर सकते है।

Prioritize 

आपको एक बात ध्यान रखनी चाहिए की आप सब कुछ नहीं पढ़ सकते है और यदि आप पढ़ भी लेंगे तो सब कुछ याद नहीं रख सकते है। इसलिए आपको उन topics को ही प्राथमिकता देनी चाहिए जो exams की दृष्टि से अति महत्वपूर्ण हो। 
केवल उसी paragraph या point को याद करने की कोशिश करे जो topic के बारे में महत्वपूर्ण हो। बहुत सारा याद करके उसे भूलने से बेहतर है की आप कम याद करे और उसे ही लिखकर आये। जब आप महत्वपूर्ण topics को cover कर लेंगे तो आपका confidence बढ़ जायेगा।  
यदि आप पहले महत्वपूर्ण topics को ढंग से पढ़ लेते है तो हो सकता है बाद में आपको कम महत्वपूर्ण topics को cover करने का time भी मिल जाये।  Time कितना भी हो यदि आप exams के लिए पढ़ाई कर रहे तो सबसे पहले आपको अतिमहत्वपूर्ण topics को cover करना चाहिए। Syllabus पूरा करने के मानसिक चक्र में ना फॅसे ये एक बेकार strategy होगी।

आप अपने syllabus के topics को 3 categories में prioritize कर सकते है –

  • अति महत्वपूर्ण 
  • महत्वपूर्ण 
  • सामान्य 

इन categories के हिसाब से आप अपना study plan create कर सकते है और focus होकर पढ़ाई कर सकते है।

Study with Old Question Papers      

किसी भी exam के लिए preparation करने के लिए आपको उसी exam के old papers को जरूर पढ़ना चाहिए। ऐसा करने से आपको अति महत्वपूर्ण topics के बारे में पता चलता है। साथ ही आपको ये भी पता चल जाता है की paper किस format का होगा और किस प्रकार questions पूछे जायेंगे।

Old papers के साथ practice करने से आपका confidence बढ़ेगा। Old papers में कई बार आपको ऐसे questions भी मिल जायेंगे जो आपकी exam में भी आने वाले होते है। Old papers के साथ practice करने से आपकी exams में performance increase होंगी। यदि आप old exam papers के साथ practice करते है तो में आपको पुरे विश्वास के साथ कह सकता हूँ की आपकी grades भी improve होगी।

Balance Your Diet 

जब भी exams की बात आती है तो students को good diet की सलाह दी जाती है। Good diet का मतलब ये नहीं होता है की आप गले तक भर के खाना खा ले। देखिये जब भी आप जरुरत से ज्यादा खाना खाते है तो आपके पेट में एक गैस बनती है जो आपके दिमाग तक पहुँचती है। ये गैस आपके mind को properly function नहीं करने देती है। इससे आपको तंद्रा आती है। फिर ऐसी situation में आप पढ़ाई नहीं कर सकते है।

Exams के time में आपको daily diet से कम भोजन करना चाहिए। जैसे की यदि आप daily 4 चपाती खाते है तो exam time में आप 3 खा सकते है। यदि आप भोजन कम नहीं खा सकते है तो भोजन के time को बदल दीजिये। खाना खा कर पढ़ने के बजाय आप पढ़कर खाना खा सकते है। जो भी आप करे लेकिन concentrate होकर पढ़ाई करने के लिए आपको थोड़ा तो sacrifice करना ही होगा।

कई students को मैने देखा है जब उनको नींद आने लगती है तो वे चाय या coffee पीते है। चाय या coffee आपको थोड़ी देर के लिए तो concentrate महसूस करवा सकती है लेकिन इसे आपको फायदा नहीं नुकसान ही होगा। इसके बजाय यदि आपको नींद आ रही है तो आप सो जाएँ वही ज्यादा better होगा। लेकिन यदि कभी ऐसी situation हो जब आपके pass time नहीं है या फिर आपको पढ़ना ही पड़ेगा तो ऐसी situation में आप चाय या coffee ले सकते है।

Study For Short Period of Time

ज्यादातर students लंबे समय तक books को लेकर बैठे रहते है। और जब वे पढ़ कर उठते है तो वे वही होते है जँहा से उन्होंने शुरू किया था। लंबे समय तक study करने से आप ज्यादा कुछ हासिल नहीं कर पाते है। मनुष्य का दिमाग लगभग शुरू के 30 minute तक ही पूरी तरह concentrated रहता है। इसलिए लंबे समय तक book लेकर बैठने की बजाय यदि आप अपने time को छोटे छोटे parts में divide कर ले और बीच बीच में break लेते रहे तो आप ज्यादा अच्छी तरह पढ़ाई कर पाएंगे। 
Break में आप अपने favorite songs सुन सकते है या फिर कुछ देर के लिए लेट सकते है। Breaks में सबसे अच्छा काम आप ये कर सकते है की आप थोड़ी देर के लिए टहल सकते है और टहलते हुए आप मन ही मन important points को दोहरा सकते है। 

Help Others 

एक बार जब आप किसी topic को खुद समझ ले तो किसी और student को भी आप समझा सकते है। ये tip आपको थोड़ी time consuming और अटपटी लग सकती है। लेकिन इससे सबसे ज्यादा फायदा आपको ही होगा। जब आप किसी दूसरे student को successfully कोई topic समझा देते है तो उस topic को आप जल्दी से भूल नहीं सकते है।

दूसरे students की मदद करने से आपका confidence भी बढ़ता है साथ ही आपको topic की एक deep understanding हो जाती है। ऐसा करके आप एक अच्छा environment भी create कर रहे होते है। इससे यदि किसी student को कोई topic अच्छे से समझ में आता है तो वे भी आपके साथ share कर सकते है। जो भी हो इस task से सबसे ज्यादा फायदा आपको ही होगा।

ये कुछ tips मैने आपके साथ share किये है इनसे definitely आपको exams में बहुत help मिलेगी। ये tips specifically exams के लिए है यदि आप study के बारे में कुछ tips चाहते है तो आप मेरा दूसरा article (Study tips in Hindi) पढ़ सकते है। यदि आप कोई tip या strategy share करना चाहते है तो comment करके बता सकते है मैं उन्हें इस article में include करने का प्रयास करूँगा। मेरी शुभ कामनाएं आप सभी के साथ है।  ALL THE BEST!  

JavaScript in Hindi

JavaScript in Hindi 

Author : VIPIN KUMAR SHARMA
Series Name : JavaScript in Hindi
Articles : 20 

Last Updated : [April 2016] by “Vipin Kumar Sharma”
Audience : Computer science students & Web developers 
Prerequisites : 1. HTML (Hyper Text Markup Language)
2. CSS (Cascading Style Sheet)
3. Basic programming knowledge 
Time required : 25:00 hours 
Tools required : 1. Notepad, Notepad++ or any IDE
2. Web browser (Should be JavaScript enabled)
Note : An eBook has been created to learn JavaScript in Hindi. You can buy it for your personal use. We recommend it. Click here 

Table of contents

  1. JavaScript in Hindi : Introduction
    1. Features of JavaScript 
    2. Advantages of JavaScript 
    3. Functions of JavaScript 
  2. JavaScript in Hindi : Syntax & Commenting
  3. JavaScript in Hindi : Variables
  4. JavaScript in Hindi : Operators
    1. Basic operators 
    2. JavaScript special operators 
  5. JavaScript in Hindi : Control Statements
  6. JavaScript in Hindi : Arrays
  7. JavaScript in Hindi : Functions
  8. JavaScript in Hindi : Events
  9. JavaScript in Hindi : Dialogs
    1. Alert dialog box
    2. Confirm dialog box 
    3. Prompt dialog box 
  10. JavaScript in Hindi : Objects
    1. Array object
    2. Math object 
    3. Date object 
    4. String object 
    5. Number boolean 
    6. Boolean object
  11. JavaScript in Hindi : DOM (Document Object Model)
  12. JavaScript in HIndi : Form Validation
    1. Empty validation 
    2. Appropriate form validation 

I hope that you will like this JavaScript in Hindi series. 

Study tips in Hindi

Study Tips in Hindi

अच्छी पढ़ाई करना school, college और life में success पाने के लिए बहुत जरुरी है। लेकिन ऐसा नहीं है की आप सिर्फ क्लास में जाकर बैठ जायेंगे और teachers जो पढ़ाएंगे वो खुद ही आपके दिमाग में आ जायेगा। आपको भी अपनी तरफ से मेहनत करनी होगी और जो teacher समझाने की कोशिश करते है उसे समझना होगा। केवल ऐसा करके ही आप study में success प्राप्त कर सकते है। और ऐसा करके आप समाज में अपनी पहचान बना सकते है।
आप सब जानते है की पढ़ते तो सब है लेकिन knowledge सब की बराबर नहीं होती है और उसे यूज़ भी हर कोई नहीं कर पाता है। कई students ऐसे भी होते है जो ठीक से पढ़ नहीं पाते है और वे ये सोचते है की शायद पढ़ाई केवल कुछ गिने चुने students ही कर सकते है। ये problems students को बहुत परेशान करती है। लेकिन यदि students appropriate पढ़ाई की techniques यूज़ करे तो आराम से कम समय में बेहतर पढ़ाई कर सकते है। इस article में मै आपको कुछ ऐसी ही tips बताने वाला हुँ जो आपकी study को improve करती है। 
पढ़ाई करना कोई कठिन काम नहीं है। सबसे बुरी बात ये है की students इसे कठिन मानते है। वो पहले ही मान लेते है की में नहीं पढ़ सकता हूँ या में कितनी भी कोशिश कर लू पढ़ाई मेरे से नहीं हो सकती है। लेकिन यदि ऐसे students पूरा विश्वास कर ले की वो भी अच्छी तरह से पढ़ सकते है और बेहतरीन marks ला सकते है तो उन्हें कोई नहीं रोक सकता है। बस उन्हें अपनी कुछ गलतियों को सुधारना होगा और कुछ अच्छी आदते विकसित करनी होगी।

सबसे पहले तो आपको ये समझना होगा की आप पढ़ाई नहीं कर पा रहे है तो इसकी वजह आप ही है। आप को इस बात की पूरी जिम्मेदारी लेनी होगी। क्योंकि जब आप जिम्मेदारी लेंगे तब ही आप इसको बदल सकते है। कई बार ऐसा होता है की आप ही अपने शत्रु बन जाते है। आपके भीतर कुछ ऐसे elements होते है जो आपको पढ़ाई में concentrate करने से रोकते है। आप को इन elements को पहचानना होगा और धीरे धीरे खुद को इनसे बचाना होगा। आइये सबसे पहले इन elements के बारे में जानने का प्रयास करते है।  

मन 

आप कितनी अच्छी तरीके से पढ़ाई करते है इसके लिए सबसे महत्वपूर्ण element है आपका मन। जब भी आप पड़ने बैठते है तो सबसे पहले आपका मन आपको रोकता है। जैसे की – 
  • सुबह जल्दी उठ कर पडूंगा। 
  • रात को पडूंगा लेट तक। 
  • अभी तो बहुत दिन बाकि है। 
  • कोई भी नहीं पढ़ रहा है।  
  • एक रात में सब कर लूंगा अपन तो ऐसे ही है। 
ये सभी विचार आपके नहीं है ये आपके मन के है जो मन आपको रोकने के लिए आपके सामने रखता है। यदि किसी तरह आप पड़ने बैठ भी जाये तो मन अपनी पूरी ताकत लगा देता है आपको उठाने के लिए। जैसे की –      
  • पहले कुछ खा लू (फिर आप खाने के लिए उठ जायेंगे) 
  • अभी कुछ समझ नहीं आ रहा है। 
  • बाद में फ्रेश mind से पडूंगा। 
  • सही study material नहीं है।     
  • पहले सभी कामों से फ्री हो जाता हूँ फिर आराम से पढूंगा। 

 यदि आप अपने मन को control कर ले तो आप आराम से जितनी देर चाहे उतनी देर पढ़ सकते है। लेकिन इसके लिए आपको अभ्यास करना होगा आपका मन जब भी कोई ऐसे बहाने बनाये तो आपको उसे रोकना होगा और खुद को पढ़ाई में लगाना होगा।          

तरीका 

दूसरा जो आपकी studies को effect करने वाला element होता है वो ये होता है की आप किस तरह से पढ़ाई करते है। ज्यादातर students रटने में विश्वास रखते है। वो ये नहीं समझते है की रटने से सिर्फ कुछ ही देर तक याद रहेगा। लेकिन यदि आप टॉपिक को समझ लेंगे तो जिंदगी भर नहीं भूलेंगे। 
साथ ही students सिर्फ exam time में पड़ते है। और एक दिन में ही सब कुछ याद करने लेना चाहते है। ऐसा करके वो स्वयं का दिमाग खुद ख़राब करते है। और ऐसा करने से कुछ भी हासिल नहीं होता है। ये exam के लिए तैयारी करने का सबसे बुरा तरीका होता है। 
मैने जो आपको ये दोनों तरीक बताये है आपको इनसे बचना चाहिए। 

समय और जगह 

कुछ students रात को लेट तक पड़ने की कोशिश करते है। लेकिन वे बहुत कम gain कर पाते है क्योंकि रात को दिमाग इतना फ्रेश नहीं होता है जितना जब आप सुबह उठते है उस वक़्त होता है। 
पढ़ाई के लिए ये जरुरी है की जँहा आप पढ़ रहे है वहॉ शोरगुल न हो। यदि आप ऐसे वातावरण में पढ़ाई करेंगे तो आपका समय भी बर्बाद होगा और आपको कुछ समझ भी नहीं आएगा।

Related Article : Exam Preparation Tips in Hindi

ये 3 important elements है जो आपकी पढ़ाई में बाधा डालते है। आइये अब में आपको कुछ ऐसी tips देना चाहता हूँ जिससे आप अपनी पढ़ाई को improve कर सकते है। 

हर दिन पढ़ाई करे 

जैसा की आप जानते है “practice makes perfect”, यदि आप हर दिन पढ़ाई करेंगे तो आपको पढ़ाई बोझ नहीं लगेगी और आपकी पढ़ाई करने की आदत भी बन जाएगी। और धीरे धीरे आप बड़े बड़े topics को भी बहुत जल्दी और आसानी से समझ सकेंगे। यदि आप हर दिन पढ़ाई करेंगे तो आपको सभी चीज़े याद रहेगी इससे आपको confidence मिलेगा और आप एग्जाम के time में भी नहीं घबराएंगे।        

शांत और रोशनी वाली जगह में पढ़े 

यदि आपके आस पास का माहोल शांत है तो आप आसानी से अपनी पढ़ाई में concentrate कर सकते है। यदि आप घर में ढंग से नहीं पढ़ पा रहे है तो आप library में भी जा सकते है। कोशिश करे की आप morning में जल्दी उठ कर पड़े क्योंकि उस समय सब सोये रहते है। 
कुछ students खुद को कमरे में बंद कर लेते है और फिर पड़ने की कोशिश करते है। ऐसा करना बिलकुल गलत है। आपको खुले और सूरज की रोशनी वाले वातावरण में पढ़ना चाहिए। खुले वातावरण में आपके दिमाग को oxygen आराम से मिलती है इससे आपका दिमाग फ्रेश रहता है। 

Active learner बने 

ज्यादातर students अपने topic को सिर्फ पड़ते है उसको अपने दिमाग तक पहुँचाने के लिए कोई activity नहीं करते है। ऐसे आप अपना time ख़राब करते है। आपको पढ़ाई के समय active रहना चाहिए। Active learner बनने के लिए जो lines important हो उनको आप underline कर सकते है या पड़ते समय notes बना सकते है। Active learner बनने का सबसे अच्छा तरीका है खुद पढ़ कर किसी दूसरे student को पढ़ाना, ऐसा करने से आपको topics review भी हो जाते है। Active learner बनने का एक तरीका ये और है की आप topic को सबके साथ discuss कर सकते है, ऐसा करने से यदि कोई point आप से छूट भी गया हो तो वो आपकी पकड़ में आ जाता है।      
              

थोड़ा थोड़ा पढ़े 

एक बार में बहुत सारा पढ़ने की कोशिश ना करे। अपने material को कुछ हिस्सों में बाँट ले फिर समय सीमा तय करे कोनसा हिस्सा कितनी देर पढ़ना है। ऐसा करने से आपका confidence बढ़ेगा और आप हर बड़े topic को आसानी से पढ़ पाएंगे। 

समझने का प्रयास करे 

जैसा की मैने आपको पहले बताया यदि आप topic को रटेंगे तो कुछ समय बाद उसे भूल जायेंगे। लेकिन यदि आप उस topic को समझ लेते है तो उसे कभी नहीं भूल पाते है। हमेशा यही प्रयास करे की पहले topic को समझे। फिर उसके important points को memorize कर ले।     

हँसते रहे 

हमेशा प्रसन्न रहे। जब आप प्रसन्न होते है तो आपका दिमाग भी fresh रहता है और चीज़ों को जल्दी catch करता है। प्रसन्न रहने से आपका स्वास्थ्य भी ठीक रहता है। अपने आपको नकारात्मक लोगो से बचाये और सकारात्मक लोगो से सम्बन्ध बनाये। 

Learn Android in Hindi

Learn Android in Hindi

Android से आज कल कोई भी अपरिचित नहीं है। Android mobile phones के लिए सबसे ज्यादा यूज़ होने वाला operating system है। ऐसे mobile phones जो android के साथ आते है उन्हें smart phone भी कहा जाता है।

Android बहुत ही कम समय में mobile phones के लिए एक popular operating system के रूप में उभरा है। इसका मुख्य कारण ये है की android यूज़ करने में बहुत ही आसान, powerful और Google द्वारा supported है।

यदि आप mobile technology में अपना carrier बनाना चाहते है तो android आपके लिए एक बेहतरीन option होगा। इसीलिए Best Hindi Tutorials ने अपने readers के लिए android सिखने के लिए Hindi में tutorials provide की है। आशा करते है की ये tutorials आपको बेहद पसंद आएगी।         

Table Of Contents  

  1. Android in Hindi : Introduction 
  2. Android in Hindi : Android Development Tools
  3. Android in Hindi : Android Components
  4. Android in Hindi : Installing Android Studio
  5. Android in Hindi : Creating project in Android Studio
  6. Android in Hindi : Intents
  7. Android in Hindi : AndroidManifest.xml File
  8. Android in Hindi : Views
  9. Android in Hindi : Activity
  10. Android in Hindi : Services
  11. Android in Hindi : Broadcast Receivers
  12. Android in Hindi : Content provider
  13. Android in Hindi : Resources
  14. Android in Hindi : Fragments
  15. Android in Hindi : Layouts
  16. Android in Hindi : Menus
  17. Android in Hindi : Buttons
  18. Android in Hindi : Toasts
  19. Android in Hindi : Text Fields
  20. Android in Hindi : Spinners
  21. Android in Hindi : Dialogs
  22. Android in Hindi : Notification
  23. Android in Hindi : Search Interface
  24. Android in Hindi : File System
  25. Android in Hindi : Storage System
  26. Android in Hindi : Networking
  27. Android in Hindi : Multimedia

Copyrights

©Copyright 2015 by www.besthinditutorials.com
This series of “Learn Android in Hindi” tutorials may not be duplicated in any way without the express written consent of the publisher, except in the form of brief excerpts or quotations for the purpose of review. The information contained inhere is for the personal use of reader and may not be incorporated in any commercial programs, other websites, or any kind of blog without written consent of the publisher. Making copies of these tutorials or any portion thereof for any purpose other than your own is a violation of copyright laws.
These “Android in Hindi” tutorials have been published by www.besthinditutorials.com  

Preface

The idea of writing a tutorial series to learn android in Hindi can be somewhat pointless at times, considering the pace at which android continues to grow, expand and change. What started out as a few tutorials a few months ago has now become a series of tutorials to learn android in Hindi. 
These tutorials of android in Hindi represents our latest effort to provide coverage on important android development topics in Hindi. We have tried our best to make tutorials simple and easy to understand, yet you will have to follow on your part with questions in the comments. 
These tutorials have been written by VIPIN KUMAR SHARMA. We know you have choice when it comes to android tutorials, so thank you for learning and collaborating with us. 

Acknowledgement

There are many people that work to put these tutorials together, and as an author, I dedicated an enormous amount of time to write these “Learn Android in Hindi” tutorials, but it would never been published with out the dedicated, hard work of many other people. 
Our content writers was crucial to the finished series, going over every word of every tutorial with me to fine-tune the language and grammar. Without there support I would have never finished these tutorials.   

Road map to learn android in Hindi series 

In the very first tutorial of learn android in Hindi series we have provided basic introduction about android. In this tutorial we have discussed many versions of android, features of android and android platform. First tutorial provides all that you must know about android as a beginner.
In second tutorial of learn android in Hindi series we have introduced development tools used in android development. Before starting development in android platform you must know all these development tools.
Third tutorial of learn android in Hindi series contains short explanations regarding android components in Hindi. These are the basic components of any android application. Any android application is built using these components. Though in this tutorial we have provided short explanations on android components but in next tutorials we have explained all the components very deeply.
It is necessary to setup a environment before learning android further, so that you can apply what you have learned. In fourth tutorial of learn android in Hindi we have provided steps to install android studio.       
In the fifth tutorial of this series we have provided simple steps to create project in android studio.
Sixth tutorial of learn android in Hindi tutorials series contains information regarding android intents. It is very necessary that you grab concept of intents. Intents are building blocks of android. If you understand intent you have understood whole android.
In the seventh tutorial of learn android in Hindi series we talk about AndroidManifest.xml file. This is a minor but important topic to learn android.
Eighth tutorial of learn android in Hindi series contains broad explanation of android views.  
   

About the Author

VIPIN KUMAR SHARMA   is the founder of www.besthinditutorials.com. He is a writer, designer and tutor. VIPIN has six years of experience in computer science and lately he has been writing tutorials on many other computer science subjects. His years of real world experience is evident in his writing, he is not just an author but an experienced programmer with very practical knowledge. VIPIN has published many tutorials series on his blogs like Java and PHP.  You can contact VIPIN through contact details available in About Us page.     

From the Author

हेलो दोस्तों ये series best tutorials to Learn Android in Hindi इस sentence को दिमाग में रख कर बनाया गयी है यंहा आपको android development से related हर topic पर आसानी से समझ आने वाली tutorial मिलेगी।

मेरा नाम विपिन कुमार शर्मा है, मैने computer science में जाने का जब मन बनाया था तो कभी नहीं सोचा था की जो programming दूसरे students को tuff लगती है वो मुझे interesting लगने लगेगी। सच पूछिये तो दोस्तों programming बहुत ही आसान है यदि आप सभी प्रोग्रामिंग languages में यूज़ होने वाले basic concepts सिख ले।

मेरे साथ पढने वाले कुछ मेरे दोस्त ऐसे थे जिन्हे प्रोग्रामिंग पसंद नहीं थी। और आपके आस पास भी ऐसे बहुत से लोग होंगे जिन्हे प्रोग्रामिंग अच्छी नहीं लगती लेकिन उन्हें फिर भी सीखनी पढ रही है।

दोस्तों मेरा ये मानना है जब हमे कोई काम करना ही है तो उसे दिल से क्यों नहीं किया जाये। मेरी इसी सोच की वजह से आज मुझे प्रोग्रामिंग की इतनी नॉलेज है, और में दूसरे स्टूडेंट्स को भी सीखा रहा हूँ।  जब मेरे सभी दोस्त exams में रट के पास हुआ करते थे उस समय में हर topic को समझ के पढता था और exam में भी जो समझ आया वो ही लिख के आता था। शायद इसी वजह से में professors की नजर में एक average स्टूडेंट रहा।

लेकिन जब बात knowledge की आती तो पूरी क्लास में सबसे ज्यादा programming  knowledge होते हुए भी में एक average student था। लेकिन मुझे इस बात का कभी अफ़सोस नहीं हुआ क्योंकि मेरे पास real knowledge थी। इसीलिए मेने सोचा की क्यों न में ये knowledge सबके साथ शेयर करू ताकि सब students इससे कुछ knowledge gain कर सके। इसी अच्छी सोच Learn Android in Hindi के साथ मेने ये series शुरू की।

जैसा की आप जानते है android में java का उपयोग होता है इसलिए मेने इस website में java tutorials भी डाली है। Learn Android in Hindi जब मेने ये बात सोची थी तो मुझे मुमकिन नहीं लगी थी।  लेकिन जब आप कुछ अच्छा करने का प्रयास करते है तो परमात्मा आपका साथ देते है। 

इस series में आपको सभी topics example द्वारा समझाए गए है जैसे की android components और fragments आदि। हर छोटे से छोटे टॉपिक के लिए अलग से एक पेज क्रिएट किया गया है जिसमे उस टॉपिक को बहुत से examples के द्वारा समझाया गया है। इसके बाद आपको learn android in Hindi videos भी प्रोवाइड किये गए है।

जिनमे मेने बहुत ही सिंपल तरीके से हर टॉपिक को explain किया है और इम्प्लीमेंट भी किया है। आपको इन tutorials को download करने के लिए learn android in Hindi PDF download पेज भी क्रिएट किया गया है जँहा से आप इन tutorial को download कर सकते है।

इस series को क्रिएट करने में मैने बहुत मेहनत की है और ये series अपने motive : learn android in Hindi को चरितार्थ करती है।

इस series की success का राज ये है की Hindi में android development सीखना English में सिखने से इजी है। Hindi हमारी मातृ भाषा है जितनी आसानी से हम कोई concept Hindi में समझ सकते है उतनी आसानी से और किसी भाषा में नहीं समझ सकते है। आसानी से ही नहीं Hindi में हम जल्दी भी सीखते है।

मुझे आशा है की आपको learn android in Hindi की ये सीरीज जरूर पसंद आएगी।